ब्लॉगर या वर्डप्रेस – किसे चुनें और क्यों

ब्लॉगिंग के शुरुआत करने से पहले आपको सही ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म चुनना चाहिए। आज ब्लॉगर , टम्बलर और वर्डप्रेस जैसे बढ़िया विकल्प मौजूद हैं। अगर आप इंटरनेट पर सर्च करें तो आपको बहुत से संबंधित आलेख मिल जायेंगे। कोई कुछ सजेस्ट करता है तो कोई कुछ, नए ब्लॉगर के लिए सही ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म चुनना किसी चुनौती से कम नहीं है। आज का हमारा टॉपिक ब्लॉगर और वर्डप्रेस के बीच चुनाव करने का है। ब्लॉगर एक शानदार ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म है जिसको गूगल सेवाएँ पसंद करने वाले बेहद पसंद करते हैं, क्योंकि इसका रखरखाव बड़ा सरल है। दूसरी ओर बात जब वर्डप्रेस की आती है तब लोग वर्डप्रेस जैसे कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम की तारीफ़ करते थकते नहीं हैं। एक ब्लॉगिंग कंसल्टेंट के रूप में यह प्रश्न बहुत बार मुझसे पूछा जाता है।

इसका जवाब मैं यूँ यूज़र्स के स्किल जाने बिना नहीं देता, क्योंकि आप किसे क्या सजेस्ट कर रहे हैं, इससे बहुत प्रभाव पड़ता है। अगर आप किसी टेक सैव्वी को ब्लॉगर की सलाह देंगे तो यह नहीं है, लेकिन वहीं अगर आप किसी सामान्य व्यक्ति को जिसे तकनीकी जानकारी बहुत कम है, उसके लिए ब्लॉगर से अच्छा दूसरा विकल्प शायद ही कोई और है।

वर्डप्रेस और ब्लॉगर

जब आप हिंदी ब्लॉगिंग के इतिहास को देखते हैं तब आपको मामूल होता है कि वर्डप्रेस से ज़्यादा ब्लॉगर को पसंद किया गया है, इसके पीछे कई कारण रहे हैं –

1. गूगल सेवा होने के कारण सिंगल लॉगिन से काम चल जाता है
2. एक ब्लॉगस्पॉट यूज़र दूसरे के ब्लॉग पर आसानी से कमेंट कर सकता है
3. ब्लॉगर डैशबोर्ड बहुत आसान है, जिसे कोई भी समझ सकता है
4. ब्लॉगर लेआउट में गैजेट बहुत कम हैं, लेकिन सामान्य यूज़र उनसे ही ख़ुश रहते हैं
5. शुरुआती हिंदी ब्लॉगर अपनी बात प्रस्तुत करने आए थे न कि कमाई करने
6. बैकपैनेल संभालने से वो लोग घबराते थे

मैंने भी अपनी ब्लॉगिंग की शुरुआत ब्लॉगर से ही की थी, बाद में तकनीकी समझ बढ़ाकर वर्डप्रेस पर शिफ़्ट हो गया। वर्डप्रेस सीखना भी कठिन नहीं है, इंटरनेट और यूटूब पर बहुत से रिसोर्सेज हैं जिन्हें देखकर आप बहुत कुछ सीख सकते हैं और वर्डप्रेस में एक्सेल कर सकते हैं।

इस आलेख का उद्देश्य है कि आप जान सकें कि आपके लिए कौन सा ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म चुनना चाहिए?

ब्लॉगर और वर्डप्रेस के बीच चुनाव

ब्लॉगर ब्लॉगस्पाट – कब और कब नहीं

ब्लॉगर उन लोगों की पहली पसंद होना चाहिए, जिन्हें ऑनलाइन अपनी बात रखनी है। आज इसमें पैसे कमाने और विज्ञापन करने के विकल्प मौजूद हैं, और सबसे बड़ा फ़ायदा ये है कि आपको डैशबोर्ड सेटिंग्स मैनेज करनी हैं न कि होस्टिंग पैनेल । जब आपको तकनीकी जानकारी न हो तब CPanel जैसा होस्टिंग पैनेल मैनेज करना सिर दर्द बन सकता है। ब्लॉगर आपको इससे छुटकारा दिलाता है। इसलिए आप ब्लॉगिंग करना चाहते हैं और रुपये कमाना चाहते हैं तो ब्लॉगिंग आपकी पसंद बन सकता है। आज ब्लॉगर स्केमा रिच एसईओ फ्रेंडली प्लेटफ़ार्म है। जिससे आप ब्लॉग का ऑन पेज एसईओ 90% तक कर सकते हैं। किसी भी ब्लॉगर के लिए इतना ही बहुत है, साथ ही ब्लॉगर ब्लॉगस्पॉट 100% मुफ़्त है। इसके लिए किसी तरह की वेब होस्टिंग ख़रीदने की आवश्यकता नहीं है, यानि पैसे की पूरी बचत ।

इंटरनेट अगर आप ब्रैडिंग के लिए ब्लॉगिंग शुरु कर रहे हैं तो ब्लॉगर प्रयोग करने की सलाह मैं नहीं दूँगा। इस मामले आपके पास बहुत कम विकल्प हैं और सर्च इंजन में अपनी स्थिति को कंट्रोल करना बहुत मुश्किल काम है। क्योंकि आप ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म पर हैं न कि कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम प्रयोग कर रहे हैं। अगर ऑन पेज एसईओ की बात करें तो ब्लॉगर वर्डप्रेस के सामने 20 में से 19 ही पड़ता है।

संक्षेप में कहें तो ब्लॉगस्पॉट एक मुफ़्त प्लेटफ़ॉर्म के रूप में बढ़िया विकल्प है। आज ब्लॉगर के लिए कई फ्री और प्रीमियम एसईओ फ़्रेंडली टेम्पलेट ऑनलाइन मिल जाते हैं। प्रीमियम टेम्पलेट की कीमत $5 से लेकर $25 हो सकती है। यदि आप इसे प्रयोग करें तो आप सर्च इंजन में अच्छी पोज़िशन बना सकते हैं।

वर्डप्रेस – कब और कब नहीं

शुरुआत तकनीक द्रष्टा ब्लॉगर प्रयोग कर रहा था लेकिन आज हम वर्डप्रेस पर शिफ़्ट हो चुके हैं। हमको इससे यह निष्कर्ष नहीं निकलना चाहिए, ये मेरे लिए भी बेस्ट रहेगा। वर्डप्रेस पर ब्लॉग बनाने से आप ब्लॉग पर पूरा कंट्रोल पा सकते हैं। अगर आपको कोडिंग और सर्वर ऑप्टिमाइज़ेशन आता हो तब यह आपके लिए बेस्ट च्वाइस बन जाता है। आप एक होस्टिंग ख़रीद कर उसपे वर्डप्रेस सेटअप कर सकते हैं, इसके बाद आप अपनी आवश्यकता के अनुसार प्लगिन इंस्टाल कर सकते हैं, जैसे एसईओ, कैशे आदि। वर्डप्रेस के लिए लाखों प्लगिन हैं, आप उनमें से अपने काम के फ्री और प्रीमियम प्लगिन डाउनलोड कर सकते हैं।

कुछ भी करने की आज़ादी के साथ-साथ पूरा ब्लॉग मैनेज करने की बड़ी ज़िम्मेदारी भी आ जाती है। यानि पोस्ट भी कीजिए और कोई तकनीकी समस्या हो तो उसे भी सुलझाए। अगर न सुलझे तो वर्डप्रेस एक्सपर्ट के पास जाकर खर्चा कीजिए।

अगर आप ब्रैंडिंग और ऑनलाइन कमाई करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको वर्डप्रेस का प्रयोग करना चाहिए। लेकिन दिमाग़ में बिठा लेना चाहिए, कि आपको डोमेन, सर्वर और रखरखाव में सलाना खर्चा करना होगा। इसके विपरीत अगर ब्लॉगर पर रहे और कस्टम डोमेन प्रयोग करें तभी डोमेन का सलाना खर्चा करना होगा, जो कि मामूली खर्च होता है।

MattCutts, Google Engineer अपने पर्सनल ब्लॉग के लिए वर्डप्रेस ब्लॉग प्रयोग कर रहे हैं, उनका भी मानना है कि ब्लॉगर नए यूज़र्स के लिए अच्छा विकल्प है और वर्डप्रेस आपको इससे आगे ले जाता है, आप इसे मनचाहे ढंग से कस्टमाइज़ कर सकते हैं।

आपको ध्यान रखना चाहिए कि वर्डप्रेस का डिफ़ाल्ट इंस्टालेशन एसईओ फ़्रेंडली नहीं होता है, लेकिन आपको वर्डप्रेस को प्लगिन की सहायता से उसे एसईओ फ़्रेंडली बनाया जा सकता है।

निष्कर्ष

ब्लॉगर उन लोगों के लिए जो सिर्फ़ ब्लॉगिंग करना चाहते हैं और एडसेंस से ऑनलाइन कमाई करना चाहते हैं, लेकिन अगर आप एक बिजनेस ब्लॉग बनाने जा रहे हैं तो आपको वर्डप्रेस का चुनाव करना चाहिए। ब्लॉगर कम खर्चीला है वहीं वर्डप्रेस पर सलाना काफ़ी खर्च आता है।

अगर आप ब्लॉगिंग शुरु कर रहे हैं तो अपनी आवश्यकता के हिसाब से ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म चुनिए। किसे के कहे पर जाने की आवश्यकता नहीं है, लोग एफ़िलिएट मार्केटिंग से पैसा कमाने के चक्कर में आपको वर्डप्रेस चिपकाने की कोशिश करते हैं। ऐसे लोगों से आपको बचकर रहने की ज़रूरत है।

आप अगर हमसे ब्लॉग बनवाना चाहते हैं, तो हमसे वाट्सएप्प पर जुड़ सकते हैं या ईमेल कर सकते हैं।