वर्डप्रेस इंस्टाल करने के बाद 11 ज़रूरी काम

डिज़ाइनर्स तो रोज़ ही वर्डप्रेस इंस्टाल करते हैं, लेकिन शायद कुछ ब्लागर्स यह काम जीवन में इसे 2 या 3 बार ही करते हों। आप इनमें से कोई भी हों लेकिन आप वर्डप्रेस प्रयोग करते हैं, इसलिए आपको वर्डप्रेस इंस्टाल करने के बाद ये 11 काम ज़रूर करने चाहिए।

वर्डप्रेस इंस्टाल करना

सुरक्षित वर्डप्रेस इंस्टाल करना

1. डिफ़ाल्ट एडमिन अकाउंट न बनाएं

आज वर्डप्रेस इंस्टाल करने के बाद आपको डिफ़ाल्ट admin नाम के अलावा कोई दूसरे यूज़र नेम रखने की सुविधा देता है, इसलिए आपको ऐसा ही करना चाहिए वरना आपका वर्डप्रेस पासवर्ड कितना ही कठिन क्यों न हो लेकिन हैकर्स को हैक करने में क़तई मुश्किल नहीं होगी।

साथ ही साथ डिफ़ाल्ट Hello World पोस्ट और उसके कमेंट को भी किसी दूसरे यूज़र को एसाइन करके उसे डिलीट करना देना चाहिए।

2. टाइटल, टाइमज़ोन और फ़ेवाइकन बदलिए

ये वो तीन चीज़ें हैं जिन्हें आपको वेबसाइट बनाने के बाद ज़रूर सेट करना चाहिए। आप इन्हें Settings पेज के General सेक्शन में जाकर बदल सकते हैं।

– आपको साइट का टाइटल सर्च इंजन फ़्रेंडली रखना चाहिए।

WordPress General Settings
WordPress General Settings

– आपको अपने देश का टाइम ज़ोन रखना चाहिए ताकि पोस्ट सही समय प्रकाशित और शेड्यूल की जा सकें।

WordPress Timezone
WordPress Timezone Setup

– फ़ेवाइकन ज़रूर बनाना चाहिए इससे साइट प्रोफ़ेशनल लगती है। साथ यह वेब ब्राउज़र के टाइटल में दिखती है।

3. आटोमैटिक बैकअप सेट कीजिए

अगर आपकी वेबहोस्टिंग कम्पनी आटोमैटिक बैकअप न रखती हो तब उस स्थिति में आप अपनी वेबसाइट का ऑटोमैटिक बैकअप इंटरवल ज़रूर सेट करना चाहिए। ध्यान दीजिए इससे सर्वर पर स्पेस ज़्यादा घिरता है।

4. ऑथेंटिकेशन कीज़ बनाइए

आपको वर्डप्रेस साल्ट्स और ऑथेंटिकेशन कीज़ के द्वारा साइट की कूकीज़ को सुरक्षित करना चाहिए। इससे वर्डप्रेस हैकर्स को ज़रूरी जानकारी नहीं मिल पाती है। इस लिंक पर जाकर आपको आवश्यक जानकारी मिल जाएगी।

https://api.wordpress.org/secret-key/1.1/salt

इसके बाद आप wp-config.php फ़ाइल में उचित बदलाव कर पाएंगे।

5. प्रीमियम थीम प्रयोग कीजिए

वर्डप्रेस की फ़्री थीम्स अच्छी होती हैं, लेकिन उनमें प्रीमियम थीम्स जैसे फ़ंक्शंस की कमी होती है।

बहुत से लोग मानते हैं कि प्रीमियम थीम एक फ़िज़ूल ख़र्च है लेकिन बिना तुलना किए या प्रयोग किए आपको यह बात समझने में मुश्किल हो सकती है।

प्रीमियम थीम सपोर्ट देती है, वर्डप्रेस अपडेट के साथ अपडेट होती है और लगातार सिक्योरिटी चेक करती रहती है। इसी वजह से प्रोफ़ेशनल्स फ्री थीम प्रयोग नहीं करते हैं।

6. जो थीम और प्लगिन प्रयोग में न हों उन्हें हटा दीजिए

थीम इंस्टाल करने बाद आप ज़रूरी प्लगिन को इंस्टाल कर लीजिए। अगर कोई प्लगिन काम न हो तो उसको ज़रूर हटा दीजिए।

कोशिश कीजिए वही प्लगिन प्रयोग कीजिए जो नए हों और समय समय अपडेट होते हों। नहीं तो किसी भी थीम का फ़ंक्शन या डिज़ाइन वो ख़राब कर देते हैं।

7. ज़रूरी प्लगिन इंस्टाल कीजिए

सभी वर्डप्रेस साइट पर सिक्योरिटी और क्रिटिकल फ़ंक्शनालिटी के लिए कुछ ज़रूरी प्लगिन जैसे कैशे, एसईओ, सम्पर्क फ़ॉर्म आदि इंस्टाल करने होते हैं।

8. गूगल एनालिटिक्स और सर्च कंसोल को मत भूलें

इन सेवाओं को शुरुआत से प्रयोग किया जाए तो काफ़ी फ़ायदा मिलता है। साथ ही इन्हें सेटअप करने में थोड़ा समय ही लगता है। सर्च कंसोल सेटअप करना सीखें।

9. परमालिंक स्ट्रक्चर सही कीजिए

एसईओ फ़्रेंडलिनेस लाने के लिए आपको परमालिंक स्ट्रक्चर बदलना चाहिए। साथ ही यह यूज़र्स के लिए भी फ़्रेंडली हो जाता है। वर्डप्रेस इंस्टाल करने के बाद साइट का डिफ़ाल्ट परमालिंक होता है –

http://yourwebsite.com/?p=123

अगर आप एसईओ का लाभ लेना चाहते हैं तो ?p=123 के स्थान पर आपको पोस्ट टाइटल रखना चाहिए। जिससे सर्च इंजन के साथ साथ पाठकों को आपके उस पेज पर क्या है, इसे समझने में आसानी होती है।

10. डोमेन प्रयोग कीजिए

सर्च इंजन की नज़र में www और बिना www वाली एक ही वेबसाइट दो मानी जाती हैं। इसलिए यह आप पर है कि आप www प्रयोग करना चाहते हैं या नहीं। आप अपनी साइट पर डोमेन लगाने के लिए Settings के अंतर्गत General में जाकर ऐसा कर सकते हैं।

11. पोस्ट रिवीज़ंस बंद करें

पोस्ट रिवीज़ंस अच्छी चीज़ है लेकिन यह आपके डेटाबेस को बड़ा और बड़ा करती जाती है। इससे बेवजह साइट डेटाबेस की wp-posts टेबल का साइज़ बढ़ता जाता है। जिससे साइट परफ़ार्मेंस धीमी हो जाती है।

पोस्ट रिवीज़ंस को बंद करने के लिए आपको wp-config.php में नीचे दी जा रही लाइन जोड़नी चाहिए।

define( ‘WP_POST_REVISIONS’, false);

निष्कर्ष

ऊपर बताई गई सभी बातें एक सॉलिड वर्डप्रेस साइट के लिए बहुत ज़रूरी हैं। अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो हम उसका स्वागत करते हैं।

Keywords – WordPress To Do List, WordPress Installation, WordPress SEO, WordPress Site, WordPress Site Security, WordPress Security