वर्डप्रेस पर बार बार ई-मेल क्यों भरना पड़ता है?

आज भी बहुत से ब्लॉगर वर्डप्रेस के बारे में बेसिक जानकारी नहीं रखते हैं। उनकी उसमें रुचि भी नहीं है क्योंकि पैसे खर्च होते हैं। भई कुछ पाने के लिए कुछ खर्च भी करना पड़ता है। ख़ैर जाने दीजिए। मेरे पहले ब्लॉग तख़लीक़-ए-नज़र पर एक टिप्पणी आयी थी कि आप कमेंट करने के लिए पूरा बायोडाटा क्यों भरवाते हैं? महानुभाव के कहने का मतलब सिर्फ़ इतना है कि जब पाठक गूगल ब्लॉगर के अतिरिक्त किसी वर्डप्रेस या अन्य ब्लॉग्स पर टिप्पणी करते हैं तो आपको निम्न तीन चीज़ें भरने को क्यों कही जाती हैं?

  1. आपका नाम (अनिवार्य)
  2. आपका ई-मेल पता (अनिवार्य)
  3. आपका वेब्लॉग पता (वैकल्पिक)

सब ठीक है पर वर्डप्रेस पर ई-मेल क्यों भरते हैं?

ऐसा इसलिए होता है कि वर्डप्रेस और अन्य सभी बड़े कमेंट सिस्टम जैसे Disqus, Intensedebate और Typepad या Typekey सुविधा Gravatar को Support करते हैं। जिसके कारण एक ही ईमेल से जुड़ी जानकारी सभी जगह एक सी दिखाई देती है। जैसे – पाठक का नाम और उसकी तस्वीर।

अब यह GRAVATAR क्या बला है?

वर्डप्रेस और गैवतार

अजी, GRAVATAR कोई बला नहीं है, यह वर्डप्रेस की कम्पनी ऑटोमैटिक की एक सेवा है। जो कि सभी ब्लॉगरों और टिप्पणी करने वालों के लिए यह बहुत उपयोगी है। यदि आप अपने एक या अधिक ई-मेल पते इस पर जोड़ देते हैं तो अलग-अलग ई-मेल पतों के साथ अलग-अलग अपनी तस्वीरें जोड़ सकते हैं। जिस ई-मेल पते से आप टिप्पणी करेंगे, उसकी साथ लगी तस्वीर आपको उपरोक्त किसी भी ब्लॉग कमेंट सिस्टम पर दिखेगी। क्यों है न, एकदम मज़ेदार चीज़! आशा है आप भी ग्रैवतार पर अपना अकाउंट बनाकर लाभ उठायेंगे। अपना GRAVATAR ACCOUNT बनाने के लिए यहाँ क्लिक करें: http://en.gravatar.com/

उम्मीद है कि आपको वर्डप्रेस का यह फ़ंडा समझ आ गया होगा, इसलिए आगे आप ये नहीं पूछेंगे और दूसरों के साथ इस लेख को शेअर करके उनको भी ज्ञानार्जन का अवसर प्रदान करेंगे।