आखिर DISQUS ही क्यों? Pros, Merits, Benefits, Discovery, SEO

Why Use Only DISQUS? | PROS – MERITS – BENEFITS OF DISQUS

मेरे ब्लॉग पर कमेंट करने वाले बहुत से मित्रों, जिनमें से पूनम जी एक हैं जो यह जानना चाहती हैं कि डिस्कस (DISQUS) प्रयोग करने के क्या कोई विशेष लाभ हैं या नहीं है। पूनम जी से भी पहले रवि रतलामी जी भी मुझे इस विषय में अधिक जानकारी देने के लिए निर्देशित किया था। मुझे इस कमेंट सिस्टम के प्रयोग से बहुत सुविधा रहती है लेकिन मुझे डिस्कस (DISQUS) की वजह से ही बहुत कम कमेंट भी प्राप्त होते हैं क्योंकि बहुत से मित्र फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस से लॉगिन (Facebook, Twitter and Google+ Login) करते हुए अपने अकाउन्ट की सुरक्षा (Account Security) को लेकर चिंतित दिखायी देते हैं। लेकिन मैं उन मित्रों के सज्ञान में लाना चाहता हूँ कि डिस्कस (DISQUS) विश्व का सर्वाधिक प्रचलित और सुरक्षित कमेंट सिस्टम (Most popular and secure comment system) है, जिसका प्रयोग आज लगभग सभी बड़ी मीडिया कम्पनियाँ करती हैं, जिनमें से कुछ नाम हैं: CNN, NPR, Telegraph, LA Weekly, The Washington Times, Fox News, Hindustan Times, World Economic Forum, Billboard, IGN, US Weekly, People, CNN Money, Fox Business, Businessweek, The Next Web, PC Magazine, Lifetime, Men’s Health, Smart Mom Style आदि। इसमें से शायद ही किसी नाम से अनभिज्ञ हों।

अन्य प्रयोगकर्ता कम्पनियों के बारे में जानने के लिए यह लिंक खोलें: http://disqus.com/showcase/

आखिर रहस्य क्या है? – इन बड़ी-बड़ी कम्पनियों द्वारा डिस्कस (DISQUS) पर इतना भरोसा करने का। आज मैं आपको बता रहा हूँ डिस्कस (DISQUS) के बारे में कि वो अन्य उपलब्ध कमेंट विकल्पों यानि अपने प्रतिस्पर्धियों से बेहतर क्यों हैं?

नोट करें यह बिना आपकी पोस्ट पढ़े धड़धड़ ‘बढ़िया है, बढ़िया है’ करने वालों को कतई पसंद नहीं आयेगा क्योंकि यह आपके ब्लॉग पर खुलने में 5-25 सेकेण्ड तक का समय लेगा क्योंकि यह कमेंट सिस्टम नहीं चैट की तरह लाइव कमेंट सिस्टम है। उदाहरण के लिए नीचे दिये चित्र को देखें।

आपको डिस्कस (DISQUS) ही क्यों प्रयोग करना चाहिए | Why Use Only DISQUS? | PROS – MERITS – BENEFITS OF DISQUS

– नये डिसकवरी (Discovery) सेवा द्वारा ब्लॉग ट्रैफ़िक (Blog traffic) बढ़ता है और साथ ही आमदनी (Earning) भी होती है
– आपके ब्लॉग और अन्य नेटवर्क से पोस्ट पढ़ने के लिए रिक्मंडेशन (Posts Recommendation) दिखाता है
– आप कमेंट माडरेश्न (Comment moderation) के लिए एक से अधिक माडरेटर (Moderator) जोड़ सकते हैं
– नया डिस्कस (DISQUS) प्लेटफ़ॉर्म SEO फ्रेंडली (SEO friendly) है
– आप कमेंट का उत्तर प्राप्त मेल का उत्तर देकर ही दे सकते हैं (Reply via Email)
– यह मोबाइल डिवाइस (Mobile devices) पर काम करता है
– पोस्ट के लिए स्टार रेटिंग (Star rating) का विकल्प मिलता है
– आप कमेंट में मीडिया यानि फोटो अटैच (Media attachment possible) कर सकते हैं
– आप ब्लॉग पाठक द्वारा की गयी टिप्पणी को बदल सकते हैं
– सोशियल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस (Social media i.e. Facebook, Twitter and Google+) माध्यमों द्वारा कमेंट करने के लिए लॉगिन (Login) सम्भव करता है
– ब्लॉगर के सभी नये-पुराने कमेंट सिंक (Comments Sync) करता है
– कमेंट पर दिये गये रिप्लाई (Reply) के लिए बिना पेज रिफ्रेश (Page refresh) किये नोटिस दिखाता है और आपको नये कमेंट की स्थिति भी बताता है (It’s not just a comment system, it’s a live comment system.)
– यह Gravatar पर रजिस्टर ईमेलों के अवतार (Avatar) स्वत: दिखाता है
– इसके अपने स्पैम सिस्टम के साथ-साथ इस पर Akismet स्पैम प्रोटेक्श्न (Spam protection) सम्भव है
– आप प्रतिबंधित शब्दों (Restricted words) का प्रबंधन कर सकते हैं
– किये गये जाने वाले कमेन्ट के लिए आप +1 और -1 रैप्यूटेश्न (Reputation) दे सकते हैं (Comment rating possible i.e. +1 or -1)
– ट्विटर (Twitter) पर की पोस्ट शेअरिंग (Post sharing) रिएक्श्न (Reaction) के तौर पर दिखती है
– किये गये है कमेंट को सोशियल मीडिया जैसे फेसबुक और ट्विटर (Social media i.e. Facebook and Twitter) पर शेअर किया जा सकता है
– किये जाने वाले कमेंट से आप अपनी कम्यूनिटी (Community) प्रबंधित कर सकते हैं
– आप कमेंट के दौरान <pre>, <blockquote> जैसे टैग का प्रयोग कर सकते हैं
– जिन कमेंट में लिंक (Link) पोस्ट किये गये हों उनपर प्रकाशन के पूर्व मॉडरेश्न (Moderation) लगाया जा सकता है
– कमेंट में दिये गये लिंक स्वत: सीमित वर्णों तक छोटे हो जाते हैं
– कमेंट को बेस्ट, न्यूएस्ट और ओल्डेस्ट (Best, Newest and Oldest) के आधार पर छाँटा जा सकता है
– आप किसी को भी ईमेल, आइपी और डिस्कस आईडी (Email, IP and DISQUS ID) के आधार पर कमेंट न कर पाने के लिए ब्लॉक (Block) कर सकते हैं
– आप डिस्कस प्लेटफ़ॉर्म (DISQUS Platform) पर किसी भी कमेंट करने वाले को फॉलो (Follow) कर सकते हैं
– आपको टिप्पणी करने वालों का ईमेल और आइपी (Email and IP) पता रहता है
– आप किसी भी पोस्ट पर कमेंट, पोस्ट-पेज (Post page) पर ही रहकर बंद कर सकते हैं (Thread closing option available)
– आप पोस्ट पर एक निश्चित समय के बाद कमेंट स्वत: बंद कर देने का यानि कमेंट अक्षम कर देने का निर्देश लागू कर सकते हैं
– आप कमेंट में बेसिक HTML टैग <b>, <i>, <u>, <a> का प्रयोग कर सकते हैं
– आप कमेंट विभिन्न ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्मों (Blogging platforms) के लिए/से क्रमश: एक्सपोर्ट और इम्पोर्ट (Export and Import) कर सकते हैं

DISQUS PROS - MERITS - BENEFITS

– सभी बड़े ब्लॉगिंग व कंटेंट मैनेजमंट प्लेटफ़ॉर्म सपोर्ट (Blogging and Content Management) करता है
– इसके अतिरिक्त बहुत से फ़ीचर (Features) हैं इसमें… जब आप प्रयोग करेंगे तो अवगत होते जायेंगे।

आप डिस्कस (DISQUS) की साइट पर ही इसके विषय में अधिक जान सकते हैं:

Showcase: http://disqus.com/showcase
Highlights: http://disqus.com/for-websites/highlights
Awesome UX: http://disqus.com/for-websites/awesome-ux
Discovery: http://disqus.com/for-websites/discovery
Publisher: http://disqus.com/for-websites/publishers
SEO & SSO: http://disqus.com/for-websites/control-and-seo
VIP Plans: http://disqus.com/for-websites/vip

›› ब्लॉग पर डिस्कस (DISQUS) से जुड़ी अभी तक प्रकाशित जानकारी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें