क्या है होस्टेड और नॉन-होस्टेड ऐडसेंस खाता

414

There are lots of gossips about Google AdSense account types. What is difference between these account? These are of two types – Hosted or Non-hosted Accounts. A Hosted AdSense account can be created by applying through Blogger or YouTube account while for a Normal AdSense account you need to apply via AdSense website. Hosted AdSense account ad units can serve ads on approved blogs and YouTube accounts. With a normal or non-hosted AdSense account you can display ads on blogs, websites, Windows and Android applications also you can use AdSense for search to increase your AdSense revenue. I am presenting this post to clear all your doubts about a hosted AdSense account and a non-hosted AdSense account. We’ll discuss merits and demerits of hosted and normal/non-hosted AdSense account.

Hosted vs Non-hosted AdSense Account

गूगल ऐडसेंस के बारे में हम रोज़ नया सीखना चाहते हैं। सभी ख़ुश होते हैं जब उनका ऐडसेंस खाता स्वीकृत कर दिया जाता है। गूगल ऐडसेंस के खातों को लेकर आजकल बहुत हलचल है। सभी इनके बारे में जानने और प्रयोग करने की इच्छा रखते है। गूगल ऐडसेंस खाता दो प्रकार का होता है –

1. होस्टेड खाता
2. नार्मल खाता या नॉन-होस्टेड खाता।

इन दोनों ही प्रकार के खातों में बहुत अंतर होता है। यह अंतर बहुत बड़े हैं। आइए इन दोनों खातों को विस्तार से समझते हैं।

1. होस्टेड खाता

जब आप अपने ब्लॉगर या यूटूब खाते से ऐडसेंस के लिए आवेदन करते हैं और आपका खाता स्वीकृत कर दिया जाता है तो कुछ दिन प्रयोग करने के बाद इस खाते की सीमाएँ “Limitations” समझ में आने लगती हैं। होस्टेड ऐडसेंस खातों से मात्र ब्लॉगर, यूटूब और हबपेजेज़ पर ही विज्ञापन दिखाये जा सकते हैं। किसी नये ब्लॉग पर विज्ञापन दिखाने के लिए उसे ऐडसेंस से स्वीकृत कराना होता है। इसके लिए गूगल ऐडसेंस के नियम व शर्तों को पूरा करना आवश्यक हो जाता है। जिसे ऐडसेंस टीम स्वत: जाँचती है। इस खाते से आप अस्वीकृत ब्लॉग व वेबसाइटों पर इस खाते से विज्ञापन नहीं दिखा सकते हैं। आप केवल स्वीकृत ब्लॉग, साइटों और यूटूब खातों पर विज्ञापन लगाकर ही कमाई कर सकते हैं। इसमें कोई मुश्किल नहीं आती है और बहुत से ब्लॉगर इससे अच्छी कमाई कर रहे हैं।

होस्टेड ऐडसेंस खाते के फ़ायदे
– ब्लॉगर या यूटूब डैशबोर्ड से आसानी से आवेदन करके प्राप्त किया जा सकता है।
– यूटूब विडियो अपलोड करके कमाई की जा सकती है।
– यूटूब लाइव इवेंट द्वारा भी कमाई की जा सकती है।
– यह आसानी से स्वीकृत हो जाता है

होस्टेड ऐडसेंस खाते की कमियाँ
– इससे स्वीकृत ब्लॉग के अतिरिक्त अन्य ब्लॉग या साइट पर विज्ञापन नहीं दिखाये जा सकते हैं
– गूगल सर्च, गेम्स और विडियों पर विज्ञापनों द्वारा कमाई नहीं की जा सकती है
– नये ब्लॉग पर विज्ञापन दिखाने के लिए उसे स्वीकृत करवाना पड़ता है
– विंडोज़ और एंड्रॉयड एप्लीकेशन के साथ विज्ञापनों को प्रयोग नहीं किया जा सकता है

2. नार्मल खाता या नॉन-होस्टेड खाता

नार्मल या नॉन-होस्टेड ऐडसेंस खातों में कोई सीमा नहीं होती है। ऐसे खाते प्राय: सेल्फ़ होस्टेड वर्डप्रेस ब्लॉगों या साइटों या इसी प्रकार की अन्य साइटों, फ़ोरम्स, आदि पर स्वीकृत किये जाते हैं। किसी एक साइट पर खाता मान्य होने जाने पर उसी खाते से अनेक ब्लॉगों और साइटों पर विज्ञापन दिखाये जा सकते हैं। साइट व ब्लॉगों को बार-बार स्वीकृत कराने का झंझट नहीं रहता है लेकिन इसके प्रयोग में पूरी सावधानी रखनी चाहिए। विज्ञापन उन्हीं साइटों पर लगाने चाहिए जो ऐडसेंस की नीतियों और शर्तों को पूरा करते हों। अन्यथा ऐडसेंस खाते निरस्त कर दिये जाते हैं। ऐसे खातों में जितनी छूट मिलती है उतनी ही सावधानी रखने की पूरी आवश्यकता होती है। इसके साथ ही आपके पास ऐडसेंस फ़ॉर सर्च, ऐडसेंस फ़ॉर गेम्स और विडियो जैसे कमाई के अतिरिक्त साधन होते हैं। नार्मल ऐडसेंस खाते को प्राप्त करने के लिए आपको ऐडसेंस की साइट पर जाकर आवेदन करना होता है।

नॉन-होस्टेड ऐडसेंस खाते के फ़ायदे
– इसे प्राप्त करके किसी भी ब्लॉग या साइट पर विज्ञापन दिखाकर कमा सकते हैं।
– गूगल सर्च, गेम्स और विडियों पर विज्ञापनों द्वारा कमाई की जा सकती है।
– यूटूब से आसानी जोड़कर कमाई की जा सकती है।
– विंडोज़ और एंड्रॉयड एप्लीकेशन के साथ विज्ञापनों को प्रयोग करके कमाई की जा सकती है।

नॉन-होस्टेड ऐडसेंस खाते की कमियाँ
– इस प्रकार का खाता स्वीकृत होने में समय लगता है
– इस प्रकार का खाता प्राप्त करने के लिए ऐडसेंस नीतियों जानकर उनका पालन करना बहुत आवश्यक होता है, तभी खाता स्वीकृत होता है।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आये तो अपने मित्रों से इसकी चर्चा करें तथा सोशल मीडिया पर शेअर करें ताकि आप और आपके मित्र इसका लाभ ले सकें।

Keywords: AdSense account types, Hosted AdSense account, Normal AdSense account, Non-hosted AdSense account