हैकिंग से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर

आपने कम्प्यूटर हैकिंग के बारे में बहुत सुना होगा। लेकिन प्रश्न है कि आप इसके बारे में कितना जाते हैं? आपको मेरा यह ऑर्टिकल पढ़कर इसके बारे बहुत सी जानकारियाँ मिल जाएंगी। मैंने अपने रीडर्स के चुनिंदा प्रश्नों के उत्तर दिए हैं जो आपमें से बहुतों के लिए फ़ायदेमंद होंगे।

हैकिंग क्या है?

यह प्रोसेस है जिसके द्वारा किसी कम्प्यूटर के सॉफ़्टवेयर या हार्डवेयर को मनचाहे ढंग से कोड करके अपने मन मुताबिक कोई भी कार्य सम्पादित कर लिया जाता है। जिसमें अक्सर सॉफ़्टवेयर या हार्डवेयर के लूप होल्स जानकर उनका लाभ उठाया जाता है। इसको अक्सर लोग ग़लत मानते हैं जबकि ऐसा नहीं है, इसका वास्तविक उद्देश्य, तत्कालिक टेक्नोलॉजी को अधिक मज़बूत बनाना होता है। लेकिन जब बुरे हैकर्स की बात हो तब हैकिंग का ग़लत लाभ उठाया जाता है, जिससे यह आज बहुत बदनाम शब्द बन गया है।

हिंदी में हैकिंग सीखें

हैकर कौन है?

हैकर या व्हाइट हैट हैकर को इथिकल हैकर भी कहा जाता है। ये लोग कम्प्यूटर सिक्योरिटी एक्सपर्ट होते हैं जिन्हें विभिन्न कम्पनियाँ इंफ़ॉर्मेशन सिक्योरिटी को पुख्ता रखने के लिए रिक्रूट करती हैं। इन्हें स्नीकर के नाम से भी पुकारा जाता है।

हैकर्स कितने प्रकार के होते हैं?

हैकर्स को तीन श्रेणियों में बांटा जा सकता है –

व्हाइट हैट हैकर – वह हैकर जो जन कल्याण या सिक्योरिटी को मज़बूत बनाने के लिए अपने ज्ञान का प्रयोग करता है।

ब्लैक हैट हैकर – वह हैकर जो अपने ज्ञान का प्रयोग दूसरों को ठगने और उनको नुक़सान पहुंचाने के लिए करते हैं, इन्हें अक्सर क्रैकर्स के नाम से भी जाना जाता है।

ग्रे हैट हैकर – वह जो अपने हैकिंग स्किल का प्रयोग का सामने अच्छाई और पीठ पीछे बुराई के लिए करे।

क्रैकर कौन है?

ब्लैक हैट हैकर जो अपने लाभ, मज़े और ग़लत कामों के लिए नेटवर्क पर मौजूद किसी कम्प्यूटर को हैक कर लेते हैं, वो क्रैकर कहलाते हैं। ऐसे लोग वायरस, बॉटनेट स्पैम और इंटरनेट वार्म के द्वारा सॉफ़्टवेयर में बदलाव और डेटा डिस्ट्रक्शन करते हैं।

स्क्रिप्ट किडीज़ कौन है?

वह जो हैकर या क्रैकर के जाने पहचाने तरीकों को अपना नेटवर्क के किसी कम्प्यूटर से छेड़छाड़ करते हैं या उसका डेटा चुरा लेते हैं।

हैकर बनने के लिए ज़रूरी स्किल

सबसे पहले कुछ बनने के लिए आपको दृढ़ निश्चय की आवश्यकता होती है, और उसके साथ साथ कड़ी मेहनत भी करनी पड़ती है। आपको कम्प्यूटर ओएस, सॉफ़्टवेयर के काम करने का ढंग, कम्प्यूटर नेटवर्क, प्रोग्रामिंग आदि की जानकारी होना आवश्यक है। एक रात में हैकर नहीं बना जा सकता है, इसके आज बहुत से कोर्स उपलब्ध हैं।

हैकिंग एफ़एक्यू हिंदी

हैकिंग कहाँ से सीखें?

हैकिंग सीखने के लिए ऑनलाइन बहुत सामग्री उपलब्ध है लेकिन उसे कैसे प्रयोग किया जाए इसका ज्ञान होना आवश्यक है। इसलिए ज़रूरी है कि आप इंटरनेट पर टाइम वेस्ट करने की बजाय इथिकल हैकिंग का कोई कोर्स ज्वाइन कर लें।

किसी कम्प्यूटर को हैकिंग से कैसे बचायें?

कम्प्यूटर को हैकिंग से बचाने के लिए आपको अच्छा एंटीवायरस और फ़ायरवाल इंस्टाल करना चाहिए। इसके साथ आपको नेटवर्क सिक्योरिटी, वायरस, ट्रोज़न, स्पाइवेयर, फिशिंग आदि की बेसिक जानकारी होनी चाहिए।

हैकिंग सीखने की शुरुआत

हैकिंग सीखने की शुरुआत करने के लिए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना होता है, जिससे आप अच्छे हैकर बन सकते हैं।

1. कोई हैकिंग कोर्स ज्वाइन करने से पहले आपको नेटवर्क सिक्योरिटी, वायरस, पोर्ट, फ़ायरवाल, आइपी एड्रेस, एचटीटीपी, एफ़टीपी, डीएनएस, एसएमटीपी आदिक बारे में बेसिक सीख लेना चाहिए।

2. विंडोज़ के साथ आपको लिनेक्स जैसे दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम की जानकारी ज़रूर कर लेनी चाहिए।

3. इसके बारे में ऑनलाइन और ऑफ़लाइन बहुत सी किताबें बिकती हैं, आप कोई अच्छी सी बुक ख़रीदकर उसे पढ़ सकते हैं।

4. आज बहुत से टूल्स उपलब्ध हैं जिनसे हैकिंग आसान हो जाती है। लेकिन अगर आपको कुछ नया करना है तो आप प्रोग्रामिंग सीखनी ज़रूरी है। जिसके लिए आपको एचटीएमएल, पीएचपी, जावास्क्रिप्ट आदि की जानकारी होनी चाहिए।

हैकिंग सीखने में कितना टाइम लगता है

अगर कोर्स पूरे करने की बात की जाए तो आप कर सकते हैं लेकिन आप उसमें मास्टर तभी होंगे जब आपमें उसके बारे में पूरा ज्ञान, स्किल, क्रिएटिविटी, डेडिकेशन और टाइम की ज़रूरत होती है। ठीक ठाक हैकिंग सीखने के लिए आपको 6 महीने से 1 साल का समय लग सकता है। लेकिन एडवांस स्किल डिवेलप करने के लिए आपको पूरी लाइफ़ देनी होती है, क्योंकि टेक्नोलॉजी रोज़ अपडेट हो रही है।

Keywords – Learn Hacking, Hacking FAQs Hindi, Hacking Skills, Hacking Courses Hindi, Hacking Books, Hacking Internet Resources