कस्टमर इंगेजमेंट बढ़ाने के टिप्स

सरल शब्दों में कस्टमर इंगेजमेंट का मतलब ऑर्गनाइज़ेशन से कस्टमर को जोड़ना है। आज सभी बिजनेस इस काम में लगे हुए हैं, क्योंकि इससे ब्रांड के लिए कस्टमर लॉएल्टी पर सीधा प्रभाव पड़ता है। इस वास्तविकता का ज्ञान होने के बाद सभी लीडर लोग कस्टमर इंगेजमेंट बढ़ाने में लग गए हैं, उन्होंने सीखा है कि ऐसा करके आप लोगों के दिमाग़ में छाए रह सकते हैं। इस काम को करने के लिए बहुत विकल्प हैं और वे हर इंटरैक्शन को लिखकर रख रहे हैं। इसलिए ऐसा हर इंटरैक्शन सच्चाई का क्षण है।

कस्टमर इंगेजमेंट टिप्स

आप कैसे पता कर सकते हैं कि कस्टमर्स आपसे इंगेज्ड है? कुछ तरीके हम आपको बताने जा रहे हैं जिसने आप इस बात को नोटिस कर सकते हैं?

1. वो आपकी सेवाएँ ख़रीदते और प्रयोग करते हैं
2. वो आपकी सेवाओं को रिक्मेंड करते हैं
3. वो ब्रांड के साथ सम्बंध महसूस करते हैं
4. अगर वो उपरोक्त सभी काम कर रहे हैं तब वे लॉयल कस्टमर हैं।

जब ऐसा होता है तो एक्टिव डिसिंगेज्ड और डिसिंगेज्ड कसटमर्स हैं। अच्छी ख़बर है कि आप दोनों की ग्रुप को आने साथ इंगेज कर सकते हैं। एक्टिव डिसिंगेज्ड कस्टम को वापस हासिल किया जा सकता है, और इसके लिए इंवेस्ज़्ट करना सही बात है। आज भले ही वो ऑनलाइन आपके ब्रांड की बुराई कर रहे हों, लेकिन ब्रांड के लिए उन्हें दुबारा मनाया जा सकता है। इसके लिए आपको कुछ बिगड़ी बातों को सुधारना होगा।

कस्टमर इंगेजमेंट बढ़ाने के आवश्यक बातें

1. आप उनकी प्रॉब्लम का तत्काल हल प्रस्तुत करें
2. आपको ऐसी सुविधा दें जिससे वे आप तक कभी भी पहुंच सकें। आज के वन क्लिक वर्ल्ड में हम सभी 24×7 कस्टमर स्पोर्ट और सर्विस चाहते हैं।
3. आप उनको जल्द से जल्द रिस्पांस दें
4. सहायता, उद्देश्य और सच्ची रुचि दिखायें
5. अच्छा, सभ्य और सहानुभूति पूर्ण बर्ताव करें
6. समस्या को पूरी तरह दूर करें
7. आगे भी जब कभी समस्या आएगी तो आप उसको हल करोगे, यह स्पष्ट करें
8. आप उनके सजेशन को सीरियसली लें
9. जो फ़ीडबैक मिले उसको इम्प्लिमेंट करें। कस्टर के हर सवाल का जवाब देकर आप उन्हें इंगेज अकर सकते हैं।
10. सरल लेकिन आवश्यक जानकारी पूरे चैनेल में डिस्ट्रीब्यूट करें

ऑन्तरप्रनरियल लीडर्स इस जानकारी को कस्टमर इंगेजमेंट सर्वे में प्रयोग कर सकते हैं। इससे स्पष्ट इनपुट मिलेंगे। इसमें कस्टर्म को केंद्र मानकर काम करना चाहिए। मतलब है कि आपको इसे ऐसा बनाना होगा जिससे पता चले कि कस्टमर के मन में क्या है और वो क्या चाहता है? इससे आपका हर अनुभव, हर जानकारी, हर ईमेल आपके लिए काम का हो जाएगा। हर इंटरैक्शन आपके कस्टमर को जोड़ेगा और आपके ब्रांड को उसकी लाइफ़ का हिस्सा बनाएगा।

ब्रांड के ऐसे उदाहरण, जो अलग अलग तरीके से कस्टमर इंगेजमेंट करते हैं, मेरे दिमाग़ में आ रहे हैं –

1. लेनोवो सोशल मीडिया को टूल की तरह प्रयोग करता है
2. एएनज़ी अपने कस्टमर एक्सपीरिएंस को बेहतर बनाने के लिए रिपीटेड बिहैवियर रखता है
3. गूगल यूज़र एक्सपीरिएंस को अच्छा बनाने के लिए लगातार सर्च इंजन को सरल बनाता है

टीम प्लेयर बनके नकारात्मकता दूर करना

मेरा मनाना है कि तकनीक और सोशल मीडिया के उत्थान के बाद से कस्टमर बहुत पॉवरफ़ुल हो गए हैं और हम सभी के पास च्वाइस हैं। अगर आपको वन क्लिक की दुनिया में अपनी जगह बनाये रखनी है तो आपको रियल टाइम में काम करना होगा और पर्सनल लेवल पर समस्या को हल करना होगा। आपको कस्टमर्स तक उसी चैनेल से पहुंचना होगा जिस चैनेल से वो आप तक पहुंचना चाहते हैं।

कस्टमर लॉयलटी हर रोज़ अलग अलग तरह से बनती है। एक ईमेल, एक सोशल मीडिया ट्रिगर, एक मैसेज आदि कुछ भी इंटरैक्शन का तरीका हो सकता है और ये सभी आवश्यक हैं। आज जब हम कस्टमर एक्सपीरियंस की ओर ध्यान दे रहे हों तो आपको अपनी ऑडियंस के साथ सम्पर्क में बने रहने के नए नए रास्ते निकालने होंगे।

अगर आपके पास भी कस्टमर इंगेजमेंट को बेहतर बनाने के लिए कोई टिप्स हैं तो हमसे अवश्य शेअर करें और अपने कमेंट भी दें।