क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस का महत्व

251

यदि आप ब्लॉग लिखते हैं और उस पर कोई फ़ोटो, कहानी, कविता, लेख या तकनीकि जानकारियाँ प्रकाशित करते हैं तो यह बहुत आवश्यक हो जाता है कि आप अपनी सामग्री के प्रकाशन और प्रयोग के विषय में प्रकाशनाधिकार या कॉपीराइट नियम साइट पर जारी करके रखें। इससे आपकी साइट/ब्लॉग से सामग्री लेकर प्रयोग और प्रकाशित करने वालों को बहुत ही सुविधा मिलेगी क्योंकि प्रकाशनाधिकार नियम में आप यह जानकारी देते हैं कि आपकी साइट/ब्लॉग से ली गयी सामग्री को कोई व्यक्ति किस प्रकार से प्रयोग में ला सकता है। आपके साइट/ब्लॉग पर यह प्रकाशनाधिकार नोटिस किसी ऐसे स्थान पर स्थापित होना चाहिए जहाँ यह स्पष्ट से रूप से सभी पाठकों को झलक जाये। वैसे तो सबसे अच्छा यही रहता है कि आप इसके लिए अपने साइट/ब्लॉग पर एक पेज बना दें, जिसपर नियमों का उल्लेख हो और पेज बनाने के बाद उसका लिंक नेवीगेशन मीनू और पेज फ़ूटर में दें। यदि आप कोई तकनीकि जानकारी या समाचार इत्यादि के बारे में साइट/ब्लॉग रखते/लिखते हैं तो यह कभी मत सोचें कि इसका प्रयोग कोई आपकी आज्ञा लेकर करेगा क्योंकि आपने पोस्ट बनायी है तो इसका साफ़ मतलब है कि वह सभी के इस्तेमाल के लिए है। इसलिए आपको इस विषय में कॉपीराइट से हटकर थोड़ा लचीला नियम अपनाना होगा। इस प्रकार का नियम विश्वभर में ‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ के नाम से जाना जाता है। इस लाइसेंस को प्राप्त करना बहुत ही सरल है इसके लिए कुछ ही चरण अपनाने होते हैं और सारे नियम पहले से ही बने बनाये होते हैं। ‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ देशों के अनुसार अलग-अलग संस्करणों में उपलब्ध हैं।

Creative Commons

ऊपर जिस भाषा का प्रयोग किया गया उससे आपको ऐसा लग सकता है कि मैं पोस्ट कॉपी या चोरी करने वालों के पक्ष में बोल रहा हूँ बल्कि ऐसा नहीं है मैं सिर्फ़ आपके ही पक्ष में हूँ। ‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ के अंतर्गत यह स्पष्ट किया जाता है कि यदि आप किसी सामग्री को बिना उसके लेखक का उल्लेख किये प्रयोग नहीं कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त भी कई अन्य बातें इसमें शामिल होती हैं। मैं कुछ और बातों के बारें में बता दूँ।

  1. सामग्री का प्रयोग करने पर लेखक का उल्लेख करना आवश्यक है अथवा नहीं
  2. सामग्री को बदलाव करके बाँटा व प्रयोग किया जा सकता है अथवा नहीं
  3. सामग्री का प्रयोग आप व्यवसायिक तौर पर किया जा सकता है अथवा नहीं
  4. लाइसेंस का न्यायिक क्षेत्र क्या होगा

उपरोक्त चार बातों को घुमाफिरा कर 6 प्रकार के लाइसेंसों का निर्माण होता है। ‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ की भाषा में ये लाइसेंस ‘CC BY’, ‘CC BY-SA’, ‘CC BY-ND’, ‘CC BY-NC’, ‘CC BY-NC-A’ और ‘CC BY-NC-ND’ हैं। इनके विषय में पूरी जानकारी नीचे दिये लिंक पर ली जा सकती है।
http://creativecommons.org/licenses/

‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ का सीधा मतलब है ज्ञान का प्रसार। लेकिन ज्ञान को उसके असली लेखक का उल्लेख करके ही प्रयोग करने की प्रथा है। बड़े ही दुख की बात है कि भारतीय ब्लॉगों में ऐसी प्रथा को अपनाने की बजाय तोड़ने का चलन है लेकिन यह चलन यूँ ही नहीं है इसकी वजह आपके द्वारा कॉपीराइट नियम का उल्लेख न करना हो सकता है। इसलिए आप अपनी साइट/ब्लॉग पर ‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ या प्रकाशनाधिकार नियमों का उल्लेख करना न भूलें।

‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ के बारे में मुझे ‘Mashable’ ब्लॉग पर जानकारी भरा चित्र मिला आशा करता हूँ कि यह आपको बहुत पसंद आयेगा। इसे देखने के लिए नीचे दिये लिंक पर जायें।
चित्र का लिंक: http://mashable.com/images/…/cc-infographics.jpg
Credit: http://mashable.com/2012/12/08/creative-commons-license/

‘क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस’ का प्रयोग किसी भी ऐसी सामग्री के लिए नहीं करना चाहिए जिसे आप किसी को भी साझा करने की अनुमति नहीं देना चाहते हैं। ऐसी सामग्री के लिए आपको कॉपीराइट का उल्लेख करना चाहिए। कॉपीराइटेड सामग्री वह होती है जिसके लिए सभी प्रकार के अधिकार उसके लेखक के पास सुरक्षित होते हैं।

यदि आप अपनी सामग्री के लिए क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस का निर्माण करना चाहते हैं तो इस लिंक पर जाकर अपने लाइसेंस का प्रकार अपनी सुविधानुसार चुनें।
Choose your Creative Common license

अंतत: ऐसी उम्मीद करता हूँ कि हिंदी ब्लॉगगिंग में पोस्ट चोरियाँ कम होंगी, किसी लेखक द्वारा बनाये गये विजेट से उसका क्रेडिट लिंक हटाकर उसे प्रयोग करने जैसे दुष्कर्मों से निजात मिलेगी और हिंदी ब्लॉगिंग में भी क्रेडिट या एट्रीब्यूशन का आदान प्रदान बढ़ेगा। सरल शब्दों में जिसने जो पोस्ट या विजेट बनाया है उसे स्पष्ट तौर पर बताने और प्रयोग करने में किसी को शर्म नहीं आयेगी या छोटापन महसूस नहीं होगा। हम सभी ज़िंदगी भर सीखते हैं इसे झुठलाने से ज़्यादा अपनाने की आवश्यकता है। यदि हम दूसरों की सामग्री के प्रयोग के बारे में स्वयं संवेदनशील हो जायेंगे तो हमें दूसरों से सहयोग मिलेगा न कि उसने व्यर्थ वाद-विवाद बढ़ेगा।

अतिरिक्त:
1. यदि आप अपने ब्लॉग की पोस्टों के लिए कॉपीराइट फ़िंगर प्रिंट चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके काम आ सकती है।
अपनी रचनाओं को मुफ़्त में कॉपीराइट करवाइए
2. यदि आप आप जानना चाहते हैं कि आपके ब्लॉग से क्या-क्या चोरी होकर कहाँ-कहाँ प्रकाशित हो रहा है तो यह पोस्ट आपके लिए काम की साबित हो सकती है।
Tynt बताये, कब क्या चोरी हुआ आपके ब्लॉग से