ब्लॉगिंग और 5 प्रमुख सोशल मीडिया ग़लतियाँ

अपने ब्लॉग की सामग्री को बेहतर बनाने के लिए सोशल मीडिया आजकल बहुत महत्वपूर्ण स्रोत (सोर्स) है। इससे पहले एस ई ओ (सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन) का प्रयोग इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए किया जाता रहा है। लेकिन गूगल एस ई ओ में बजाय मात्रा (क्वान्टिटी) के गुणवत्ता (क्वालिटी) को महत्व देता है जिसे पहले से ही किया जाता रहा है। यही कारण है कि सोशल मीडिया के द्वारा ब्लॉग सामग्री को प्रोमोट करने के लिए अधिक महत्व दिया जा रहा है।

Top Social Media Mistakes

5 प्रमुख सोशल मीडिया ग़लतियाँ जो बहुत भारी पड़ सकती हैं

इसलिए एक ब्लॉगर के तौर पर आपको सोशल मीडिया से सम्बंधित त्रुटियाँ टालनी चाहिए।

बिना तैयारी के सोशल मीडिया प्रोमोशन करना

अधिकांश ब्लॉगर्स विभिन्न सोशल मीडिया पर अपने खाते बनाकर अपनी ब्लॉग पोस्ट एवं अन्य सामग्री को अंधाधुंध डालना शुरु कर देते हैं। वे अपनी सोशल मीडिया प्रोफ़ाइल और टाइमलाइन को प्रभावशाली बनाने का कोई प्रयास करते हैं। इससे ये होता है कि पाठक आपकी उपस्थिति पर कोई ध्यान नहीं देते हैं। किसी भी ब्लॉग के सोशल मीडिया खाते को प्रोफ़ेशनल दिखना चाहिए। जिसपर आपके ब्लॉग का कोई चित्र या लोगो अवश्य हो ताकि पाठक सोशल मीडिया पर आपकी उपस्थिति को महत्व दें।

बिना विचार अंधाधुंध प्रोमोशन करना

यह अधिकांश ब्लॉगरों द्वारा की जाने वाली एक अन्य ग़लती है। ब्लॉगर सोशल मीडिया पर खाता बनाते ही पोस्ट डालने की चरम सीमा ही लाँघ जाते हैं। वो सब कुछ शेयर करते हैं जो कुछ उन्हें मिल जाता है। वे गुणवत्ता को नकार देते हैं। जिससे पाठक उन्हें स्पैम या फ़ालतू समझकर नज़रअन्दाज़ कर देते हैं या नयी अपडेट्स को बंद कर देते हैं। कुछ विशेष परिस्थिति में सोशल मीडिया कम्पनी ख़ुद भी आपका खाता निरस्त कर सकती है। इसलिए सोशल मीडिया पर शेयर की जाने वाली सामग्री की गुणवत्ता के साथ कभी भी समझौता नहीं करना चाहिए। इसलिए दिन की एक उच्च गुणवत्ता वाली पोस्ट दिन की हज़ार अन्य पोस्टों से बेहतर प्रभाव दिखा सकती है।

सोशल मीडिया प्रोफ़ाइल में अंतर्विरोध होना

बहुत से सोशल मीडिया प्लेटफ़ार्म उपलब्ध हैं। बहुत से ब्लॉगर हर खाते में अपने और ब्लॉग के बारे में अलग-अलग जानकारी देते हैं। कहीं तो वो अपने निजि जीवन की जानकारियाँ देते दिखायी देते हैं जबकि कहीं अपनी प्रोफ़ाइल पर प्रोफ़ेशन जानकारियाँ देते हैं। इससे एक प्रोफ़ाइल अंतर्विरोध स्पष्ट दिखता है। इसलिए अपने हर सोशल मीडिया प्रोफ़ाइल पर आवश्यक जानकारियों को समान रूप से प्रस्तुत करें।

सोशल मीडिया खातों की भरमार होना

सबसे बड़ी सोशल मीडिया ग़लतियों में एक ग़लती यह भी है। अधिकांश ब्लॉगर लगभग सभी सोशल मीडिया प्लेटफ़ार्म पर खाते बना लेते हैं और इनका उचित प्रबंध नहीं कर पाते हैं। क्योंकि वह पोस्ट डालने के अतिरिक्त और कुछ भी नहीं कर पाते हैं। यह ध्यान रखिए कि सोशल मीडिया सक्रियता दोतरफ़ा होती है। कोई भी आपकी पोस्ट को पसंद या शेयर नहीं करेगा जबकि आप उनकी पोस्ट के लिए वैसा नहीं करते हैं। इसलिए आप उन सोशल मीडिया खातों पर विशेष ध्यान दें जहाँ से आपको लाभ मिलने की सम्भावना अधिक हो। इसके लिए आपको थोड़ा समय ब्लॉग रिसर्च को भी देना होगा। इसलिए अन्य ब्लॉगरों की पोस्ट शेयर को पसंद कीजिए, उनपर कमेंट कीजिए और उनको अपनी उपस्थिति का आभास कराइए।

उचित रणनीति का न होना

बिना रणनीति के किसी काम को करना एक पाप है। सोशल मीडिया पर बिना रणनीति के आप सफलता अर्जित नहीं कर सकते हैं। आपका पहला उद्देश्य ब्लॉग पोस्ट को शेयर करके ब्लॉग के लिए पाठक जुटाना होना चाहिए। इसके लिए आपको एक कार्यक्रम बनाना होगा। आपको यह स्पष्ट ज्ञात होना चाहिए कि आपको क्या शेयर करना है, क्या चर्चा करनी है और सोशल मीडिया के विभिन्न खातों पर पाठकों को क्या बताना है और क्या छुपाना है? इसे ही सोशल मीडिया रणनीति कहते हैं और इसका प्रयोग करना बहुत आवश्यक है।

Keywords: Social Media Mistakes, Top Social Media Mistakes, Common Social Media Mistakes