ब्लॉग कमेंट का उत्तर देने में होने वाली 5 प्रमुख गलतियाँ

155

पाठक आपके ब्लॉग पर तभी कमेंट करते हैं जब उन्हें आपके ब्लॉग पर मनचाही चीज़ मिल जाती है। वे आपके ब्लॉग की तभी तारीफ़ करते हैं जब आपकी लेखनी प्रभावी हो, आपकी सेवाएँ अच्छी हों और आपके द्वारा दिया जाने वाला निर्देशन उनके काम आए। प्राय: पाठक ब्लॉग लेख को पढ़ने के बाद ही टिप्पणी करते हैं। उनके द्वारा की जाने वाले कमेंट में –
1. प्रशंसा के शब्द होते हैं
2. लेख और डिज़ाइन की आलोचना होती है
3. पढ़े गये लेख में गुणवत्ता को जोड़ने के लिए
4. ये जानने के लिए कि लेख के विषय से सम्बंधित जानकारियाँ और कहाँ मिल सकती हैं

Top Comment Reply Mistakes

ब्लॉग कमेंट का जवाब देने का सही ढंग

स्मार्ट ब्लॉगर पाठकों की टिप्पणियों का जवाब किसी न किसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु करते हैं। जिसका उद्देश्य प्राय: निम्नवत होता है –

1. कमेंट करने वाले की प्रशंसा करने के लिए
2. कमेंट करने वाले को प्रभावित करने के लिए
3. कमेंट करने वाले को ब्लॉग पर दुबारा लाने के लिए
4. कमेंट करने वाले को लाभ देकर उसे अपना सब्स्क्राइबर बनाने में
5. कमेंट करने वालों को धन्यवाद देने के लिए

कमेंट का उत्तर देने का विशिष्ट उद्देश्य सदैव ही कमेंट करने वाले को अपना ग्राहक बनाना होता है। और ऐसा सिर्फ़ एक टिप्पणी कर देने मात्र से ही सम्भव हो सकता है। इस काम में समय लगता है और आपको हर कमेंट पर ध्यान देना होता है और नियमित कमेंट करने वाले पाठकों पर विशेष ध्यान देने की ज़रूरत पड़ती है।

जब आप किसी कमेंट का जवाब दे रहे हों तो आपको इन पाँच ग़लतियों से सदैव ही बचना चाहिए।

आलोचनाओं पर कड़ा विरोध जताना

आप के ब्लॉग का मतलब है – व्यापार। यदि किसी आलोचना पर कड़ी प्रतिक्रिया जताते हो इसका सीधा असर सिर्फ़ और सिर्फ़ आप पर पड़ता है। आलोचक कमेंट पर कड़ी प्रतिक्रिया पाने के बाद आपके ब्लॉग पर कभी नहीं लौटेगा। इसलिए आपने अंतिम उद्देश्य को कभी मत भूलिए। आलोचना का जवाब सौहार्द्रपूर्ण ढंग से दीजिए। सिर्फ़ उत्तर देने की बजाय कमेंट करने वाले की ग़लत धारणा को बदलने की कोशिश कीजिए। ऐसा आप तभी कर पायेंगे जब आप उस विषय में कमेंट करने वाले से अधिक जानते होंगे। इसलिए सदा सीखते रहिए और अपने क्षेत्र में पारांगत और विशिष्ट बनिए।

कमेंट का जवाब चापलूसी से देना

ऐसा कभी मत जातिए कि आप हर किसी की तारीफ़ सिर्फ़ अपना मतलब पूरा करने के लिए करते हैं। यदि ऐसा हुआ तो आप अपने उद्देश्य की पूर्ति में असफल हो जायेंगे। आप कमेंट करने वाले की प्रशंसा वास्तविक मूल्यों पर कीजिए। उतनी ही तारीफ़ कीजिए जितनी का वो हक़दार है। अतिशयोक्ति से बचिए। अन्यथा आप चापलूस के रूप जाने जायेंगे न कि एक सच्चे व्यापारी के रूप में। आपको वह सब कुछ करना चाहिए जो आपकी सामग्री
को बेचने के लिए आवश्यक है।

रूढ़िबद्ध उत्तर देना

हर टिप्पणी के जवाब में एक सा ही उत्तर लिखना। यह एकरसता की ओर इंगित करेगा। कमेंट करने वाले यह अपने मन में बना लेंगे कि आप सदैव ही एक सा उत्तर देते हैं और आप कमेंट के प्रतियुत्तर में थोड़ा बदलाव करने बार-बार वही पेस्ट कर देते हैं। इसलिए हर कमेंट का उत्तर एक नये ढंग से नयी शब्दावली का प्रयोग करते हुए दीजिए।

वयस्त जवाब देना

जब किसी कमेंट का रिप्लाई लिखें तो तुरंत ही मुख्य बिंदु पर न आ जायें। यदि आप कमेंट के जवाब में किसी कमेंट करने वाले को अपनी किसी अन्य पोस्ट पर भेजना चाहते हैं तो उसे इसका कारण अवश्य बता दीजिए। अन्यथा वो सोचेगा कि आप सिर्फ़ अपने लेख उससे पढ़वाना चाहते हैं जो कि इंटरनेट मार्केटिंग में अच्छा नहीं माना जाता है। इसलिए कमेंट के जवाब में धन्यवाद और कमेंट करने वाले को लाभ देना निहित होना चाहिए।

लम्बे जवाब लिखना

बहुत से ब्लॉगर कमेंट के उत्तर में लम्बे लम्बे जवाब लिखते हैं और दिखाना चाहते हैं कि उन्हें कितना आता है या वो कमेंट की कितनी चिंता करते हैं। कमेंट सदैव ही अनौपचारिक बातचीत है और इसे इसी प्रकार से लेना चाहिए। इसलिए कमेंट पर प्रतिक्रिया सदैव ही निर्धारित शब्दों में देनी चाहिए। कमेंट करने वाला लम्बे रिप्लाई को पढ़ने की ज़हमत नहीं करेगा और आपके जवाब पर कोई प्रतिक्रिया नहीं करेगा। इसलिए अपने पाठकों के समय की क़द्र करते हुए उन्हें ज़्यादा से ज़्यादा लाभ देने की कोशिश कीजिए।

Keywords: comment reply, comment reply mistakes, good comment reply, best comment reply