ब्लॉग पर कमेंट करने के फ़ायदे हैं नुकसान नहीं

343

हिंदी ब्लॉगिंग में कमेंट करने का सिलसिला कोई नया नहीं यह शुरुआत से ही अपनी भूमिका में है। आपने देखा होगा बहुत से ब्लॉग्स पर कमेंट्स की झड़ी से लगी रहती है। एक-एक पोस्ट पर सौ-सौ कमेंट होते हैं। लेकिन क्या कमेंट करना ब्लॉगिंग की तहज़ीब है या फिर किसी ब्लॉग पर कमेंट करने से कुछ हासिल भी होता है। एसईओ की समझ रखने वाले आज इस तहज़ीब को बहुत फ़ायदे की चीज़ मानते हैं।

ब्लॉग पर कमेंट करने के फ़ायदे

ब्लॉग पर कमेंट करने के फ़ायदे –

1. बैकलिंक में बढ़ोत्तरी

ब्लॉग पर कमेंट करने से सर्च इंजन में आपका ब्लॉग आसानी से इंडेक्स हो जाता है। हालांकि इस तरह से मिलने वाला बैकलिंक अधिकतर कम महत्त्व का नोफ़ॉलो बैकलिंक ही होता है लेकिन फिर भी सर्च इंजन में इनका बहुत महत्त्व होता है। जब आप कमेंट करते हैं तो आपका ब्लॉग सभी इंजनों में अच्छी ऑथरिटी प्राप्त करता है। जिससे आपकी साइट पर वेब ट्रैफ़िक बढ़ता है।

2. वेब ट्रैफ़िक में बढ़ोत्तरी

कुछ ब्लॉगर एक अच्छा-सा कमेंट लिखकर उसे ही अन्य ब्लॉग्स में कमेंट करते रहते हैं, ऐसा करना बिल्कुल ग़लत है। साथ ही “बहुत बढ़िया पोस्ट” या “सुंदर कविता” ऐसे ब्लॉग पर कमेंट भी सर्च इंजन के लिए कुछ महत्व नहीं रखते हैं। कुछ ऐसा कमेंट करें जिससे आपको फ़ायदा भी हो बेवजह कमेंट करके टाइम ख़राब करने का क्या फ़ायदा होगा? इसलिए कमेंट ऐसा लिखें जिसमें आप और भी ब्लॉगर्स को इंगेज कर सकें। ताकि आपके बारे में उनकी बढ़े तभी तो वो आपके ब्लॉग पर आयेंगे।

ब्लॉग पर कमेंट करने का तरीका –

  • पोस्ट प्रकाशित होते ही जल्द जल्द कमेंट करें ताकि बाकी कमेंट करने वाले ब्लॉगर आपका कमेंट पढ़ सकें।
  • कमेंट में कुछ ऐसा लिखें जो अन्य ब्लॉगर्स की पसंद बन जाए और वे आपसे इम्प्रेस हों।
  • जिस प्रोफ़ाइल से कमेंट करें उसमें अपने और अपने ब्लॉग के बारे में आवश्यक जानकारी भरें।
  • आप अपने नाम से ही कमेंट करें न कि कमेंट में कोई अनावश्यक लिंक न प्रयोग करें।

3. एसईओ में फ़ायदा मिलता है

अब जबकि एसईओ के बारे में सभी ब्लॉगर्स जानते हैं और सर्च इंजन एल्गोरिद्म भी बदल चुकी हैं। जिनके अनुसार ब्लॉग पर कमेंट करना ऑफ़-साइट एसईओ का भाग माना जाने लगा है और बैकलिंक बढ़ाकर अधिक से अधिक लाभ लेने का प्रयास किया जा रहा है। इस तरह आप भी क्वालिटी बैकलिंक बढ़ा सकते हैं।

  • डूफ़ॉलो बैकलिंक देने वाले ब्लॉग्स को ढूँढ़कर उन पर कमेंट कीजिए
  • टॉप कमेंटेटर विजेट का प्रयोग करके अन्य ब्लॉगर्स को कमेंट करने के लिए प्रोत्साहित कीजिए

4. अन्य ब्लॉगर्स के साथ सम्बंध बनते हैं

अगर आप ब्लॉगिंग को बिजनेस के रूप में जानते हैं तो बिजनेस सम्बंधों की नींव ही लेन-देन पर आधारित होती है। जब आप ब्लॉग पर कमेंट करेंगे तभी अन्य ब्लॉगर्स भी आपके ब्लॉग पर कमेंट करने आयेगा, जिससे आपको अपनी साइट के लिए एक यूनीक पाठक और एक सब्स्क्राइबर मिल सकता है। कहते हैं बूँद बूँद करके घड़ा भरता है तो आपके ब्लॉगिंग में लाभ का घड़ा भी भर जायेगा।

ब्लॉगिंग में बनने वाले ज़्यादातर सम्बंधों को दूरदर्शिता के साथ देखना चाहिए, क्योंकि अच्छे सम्बंध रेफ़रेंस देते हैं जिससे भी ब्लॉग पर ट्रैफ़िक बढ़ता है। साथ ही कमेंट करने के अच्छे परिणाम दिखने में थोड़ा समय लग सकता है, इसलिए आपको धैर्य रखने की ज़रूरत होगी।