एलेक्सा रैंक, महत्व और इसे सुधारने का रहस्य

हम आज बात करेंगे एलेक्सा रैंकिंग (Alexa ranking) के बारे में मुझे उम्मीद है कि आपने इसके बारे में कुछ-न-कुछ सुन रखा होगा क्योंकि जब साइट ट्रैफ़िक (Website traffic) की बात आती है तो इसका ज़िक्र करना ज़रूरी हो जाता है। साइट ट्रैफ़िक (Website traffic) का मतलब है कि आपकी साइट दिन में कितनी बार देखी जाती है और इसमें परिवर्तन की दर क्या रहती है। एलेक्सा रैंकिंग (Alexa ranking) के बारे में बहुत से लोग जानना चाहते हैं कि यह क्या बला है, इसका आपके ब्लॉग या साइट से क्या लेना देना है, इस पर किस प्रकार और कितना ध्यान देना चाहिए, या इस पर ध्यान देने से भविष्य में कोई लाभ है भी या नहीं। मैं आज इन्हीं रहस्यों पर से पर्दा उठाने की कोशिश करूँगा। इसकी सहायता से अपने ब्लॉग की तात्कालिक परफ़ार्मेन्स (Current performance) को आप समझकर भविष्य में अपने ब्लॉग के लिए अधिक टैफ़िक आकर्षित (Attract traffic) कर पायेंगे।

एलेक्सा इंटरनेट इनकॉर्पोरेटेड (Alexa Internet, Inc.) ने 1996 में इंटर सर्विस प्रोवाइडर (Internet Service Provider) के तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज़ की थी। एलेक्सा ने एलेक्सा रैंकिंग (Alexa ranking) की शुरुआत की थी जिसको लाखों वेबमास्टरों (Millions of webmasters) ने पूरी दुनिया में कोई वेबसाइट कितना ट्रैफ़िक पाती है, उस पर पाठकों की भीड़ कितनी है, इसके आधार पर रैंकिंग दी। यह सब एक तहलके की तरह हुआ, गूगल और याहू (Google and Yahoo) जैसी दिग्गज कम्पनियों ने भी एलेक्सा के आँकड़ों (Stats of Alexa)पर अपना भरोसा जताया और इसी के आधार पर शुरुआती दौर में वेबसाइटों और ब्लॉगों (Websites and blogs) को महत्व भी दिया।

एलेक्सा के अनुसार, एलेक्सा रैंकिंग (Alexa ranking) अंर्तजाल (Internet) पर लाखों प्रयोगकर्ताओं (Millions of users) द्वारा देखी जानी वाली वेवसाइट व ब्लॉगों (Websites and blogs) का अनकी लोकप्रियता (Popularity) के अनुसार विशिष्ट टैफ़िक रैंक (Specific traffic rank) तैयार करती है। यह एलेक्सा रैंक तीन माह (3 rank) के ट्रैफ़िक विश्लेषण (Traffic analysis) के बाद निश्चित की जाती है। इस रैंक को निर्धारित करने के लिए यह देखा जाता है कि आपकी साइट पर प्रतिदिन कितने पेज (Page visits per day) देखे जाते हैं और आपके ब्लॉग पर पाठकों की कितनी भीड़ (Blog traffic) रहती है।

एलेक्सा रैंक (Alexa rank) के लिए किसी वेबसाइट पर तीन माह में देखे गये पेजों (Pages visited in three month) और पाठकों की संख्या का औसत (Average numbers of users) लिया जाता है।

तीन माह के बाद, तात्कालिक और पुरानी एलेक्सा रैंकिंग (Alexa ranking) की तुलना करके ट्रैफ़िक में दर्ज़ हुए परिवर्तनों को दिखाया जाता है, सलाना यही क्रम बार-बार दोहराया जाता है। जैसा कि SEO (Search engine optimization) की जानकारी से पता चलता है कि अधिक पाठकों की संख्या जुटाने के लिए आपकी साइट को लोकप्रिय (Popular) होना ही चाहिए, एलेक्सा इसका पैमाना या मापदण्ड है। आप इस बात में कभी विश्वास करें या न करें अंर्तजाल (Internet) पर लोकप्रियता एक स्पर्धा ही है, इस स्पर्धा में आपकी जीत तय करने में एलेक्सा एक महत्वपूर्ण भूमिका (Play important role) रखती है।

यदि आप कोई पोर्टल चलाते हैं या फिर कोई ई-कॉमर्स (e-commerce) वेबसाइट तो एलेक्सा रैंक (Alexa rank) यह साबित करती है कि आपके ग्राहकों का आप पर कितना विश्वास है। इससे हटकर यदि आप कोई अपनी साइट या ब्लॉग चलाते हैं तो आपकी साइट या ब्लॉग की एलेक्सा रैंक अधिक होने से आपको विज्ञापनों पर प्रति क्लिक अधिक मूल्य (Per click more revenue through Ads) मिलने की अधिक सम्भावना रहती है।

अपने ब्लॉग या साइट की एलेक्सा रैंक जाँचने के लिए नीचे दिये लिंक पर क्लिक करें और एलेक्सा की साइट पर जाते ही दिखने वाले ‘DISCOVER SUCCESS‘ बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता लिखकर हरे सर्च बटन पर क्लिक कीजिए। इसके बाद खुलने वाले पेज पर ‘Get Details’ के पीले बटन पर क्लिक कीजिए। उदाहरण के तौर दो चित्र नीचे दिए जा रहे हैं।

Alexa Ranking Discover Success
Step 1: Search your blog’s Alexa rank

Step 2: Get details of your blog’s Alexa rank

यदि आपकी साइट या ब्लॉग पर पाठकों की भीड़ कम है तो आपकी एलेक्सा रैंक पर विश्वास जताना थोड़ा कठिन हो जाता है। लेकिन जैसे ही एलेक्सा रैंक (Alexa rank) एक लाख नज़दीक पहुँचने लगती है और फिर उससे भी कम हो जाती है तो किसी भी वेवमास्टर (Webmaster) का भरोसा आप जीत सकते हैं। एलेक्सा रैंक (Alexa rank) 1,00,000 से कम होगी तो बेहतर होगी, यह ठीक उसी प्रकार से है कि सबसे अधिक नम्बर लाने वाला छात्र ही एक/पहली रैंक प्राप्त करता है, एलेक्सा अपने इम्तिहान में अंकों को नहीं आपके ब्लॉग पाठकों की संख्या को आँकती है।

आशा करता हूँ कि एलेक्सा का असर आपके दिलो-दिमाग़ पर छा गया होगा और अब आप इसे बढ़ाने के नुस्खों के बारे में विचार कर रहे होंगे। चलिए इस विषय में मैं आपको दो चार टिप दे ही डालता हूँ आप भी क्या याद करेंगे 😛

1. अपने इंटरनेट ब्राउज़र (जैसे इंटरनेट एक्स्प्लोरर, मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स, गूगल क्रोम इत्यादि) [Internet browser (Internet Explorer, Mozilla Firefox, Google Chrome etc.)] पर एलेक्सा टूलबार (Alexa toolbar) इंस्टाल (Install) कीजिए। इसे एलेक्सा की साइट (Alexa: http://www.alexa.com) पर मुफ़्त प्राप्त किया जा सकता है।
2. अपने पाठकों को इस टूलबार के बारे में बताइए और उन्हें इसके प्रयोग के लिए प्रोत्साहित कीजिए
3. अपनी साइट व ब्लॉग पर अच्छे और जानकारी भरे लेख लिखिए ताकि आपकी साइट पर पाठकों की संख्या बढ़े
4. अपने ब्लॉग पर टिप्पणियों (Blog comments) के लिए भी मित्रों से अनुरोध कीजिए
5. अपने ब्लॉग को अपने सोशियल मीडिया प्रोफ़ाइलों (Social media profiles) के साथ जोड़िए अर्थात्‌ अपनी प्रोफ़ाइल बनाते समय अपने ब्लॉग व साइट की जानकारी दीजिए

अगली कड़ी में इस विषय में अधिक जानकारी के साथ उपस्थिति दूँगा। इसलिए अगली कड़ी पढ़ने ज़रूर आयें।

मुझे लगता है कि आज मैंने आपको एक नया असाइंमंट (Assignment) दे डाला है कयोंकि बहुत से पाठक इस काम में जुटने ही वाले हैं।

यदि आपको पोस्टें पसंद आ रही हैं तो हमसे गूगल प्लस और फेसबुक पर जुड़िए।

›› SEO (Search Engine Optimization) सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

Keywords: Alexa internet, Alexa ranking, improve Alexa rank, boost traffic, Alexa traffic ranking, boost Alexa ranking, Google, Yahoo, Page rank